Posted by: Bagewafa | مئی 1, 2018

कोहराम से…. मुहम्मदअली वफा

 

28 April2018 Urdu Mushayera organized by KGU Toronto,on Canada.

InviNushayera.jpg

कोहराम से…. मुहम्मदअली वफा

.

कट गई युं जिंदगी तेरे बगैर आराम से

पी रहा हुं गोया बस में एक खयाली जाम से

.

खो गया था शहरमें गुमनाम लेकिन दोस्तो

ये मुजे किसने पुकारा आज मेरे नाम से.

.

हम तो चले निकले थे युंही, बे नियाजी चालसे

ख्वाबकी चिडिय़ां उडी लेकिन कीसी के बाम से

.

लावा बन कर चल पडा , अलल सुबह सूरज मगर

थम गया ये थक कर देखो एक नशीली शाम से

.

भीडके सहराओमें ,अकसर वफा, तडपा ये शहर

शोर सडकों पर उगा इस भीड के कोहराम से.

Advertisements

زمرے

%d bloggers like this: